यूएन ( UAN ) क्या है ?




यूएन ( UAN ) का फुल फॉर्म होता यूनिवर्सल अकाउंट नंबर ( Universal Account Number ) जो की हर एक उस कर्मचारी को ईपीएफ की संस्था भविष्य निधि फण्ड के तरफ से दिया जाता है जो की किसी न किसी कंपनी में कार्यरत है , यह एक ऐसा यूनिक नंबर होता है जिसे के नौकरी बदलने पे हस्तांतरण कीया जा सकता है। पहले अगर आप नौकरी बदलते करते थे तो आपको ईपीएफ की जमाराशि निकालनी होती थी और उसमें आप को अपने नए वाले कंपनी में हस्तांतरण करने की कोई वैध प्रक्रिया नहीं था लेकिन अब भारतीय सरकार के श्रम विभाग ने आपको अपना ईपीएफ की जमा राशि पुराणी कंपनी से नयी कंपनी में हस्तांतरण करने की छूट दे दी गयी है अगर आप चाहते है की आप का ईपीएफ की राशि अपने रिटायरमेंट पे निकले तो सिर्फ आप अपने ईपीएफ अकाउंट और नंबर को नए कंपनी के साथ जोड़ते जाये , साथ ही साथ अगर आप चाहते है की उस जमा राशि को कंपनी छोड़ने पे निकल ले तो आप आप निकाल भी सकते हैं। आप के ईपीएफ जमाराशि पे सरकार आपको ब्याज भी देती है।

UAN कैसे मिलेगा :

कोई भी कर्मचारी अपने सैलरी स्लीप के ऊपर UAN नंबर देख सकता है अगर किसी कारणवश सैलरी स्लीप नहीं मिल पा रहा है तो आप अपने कंपनी के HR या प्रबंधक से इस नंबर को प्राप्त कर सकते है , प्रायः यह नंबर आपको कंपनी के द्वारा दे दिया जाता है अगर नहीं तो UAN नंबर के लिए अर्जी दी जा सकती है। आप ऑनलाइन भी इस नंबर को जेनेरेट कर सकते है इसके लिए आपको http://uanmembers.epfoservices.in/check_uan_status.php इस पर क्लिक करके जान सकता है.

UAN कैसे एक्टिवेट करें :

आप अपने UAN नंबर को अपने कंपनी से ले या सैलरी स्लीप के द्वारा जान ले उसके बाद – http://uanmembers.epfoservices.in/uan_reg_form.php यहाँ पे जाएँ और कुछ आवश्यक कागजातों के द्वारा उसे एक्टिवेट कर सकते है। इसके लिए आप के पास UAN नंबर , रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और ईपीएफ नंबर होना जरूरी है। रजिस्टर लिंक पे जाने के बाद अपनी KYC की प्रक्रिया पूरी करे , एक फॉर्म के अंडर अपनी सारी जानकारियाँ डालें और उसके बाद आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पे एक OTP आएगा उसे फील करें और दूसरी आवश्यक जानकारी जैसे ईमेल अड्रेस और पासवर्ड डाले और इसके बाद आपका UAN activate हो जायेगा।